आरंभ है प्रचंड | Aarambh Hai Prachand Lyrics – Lyricsbroker

Aarambh Hai Prachand Lyrics : Song from album गुलाल (2009) . Music and Lyrics by Piyush Mishra.


आरंभ है प्रचंड | Aarambh Hai Prachand Lyrics


आरम्भ है प्रचंड,
बोले मस्तकों के झुण्ड,
आज जंग की घडी की तुम गुहार दो
आन, बान ,शान या की जान का हो दान,
आज एक धनुष के बाण पे उतार दो
मन करे सो प्राण दे जो,
मन करे सो प्राण ले जो,
वही तो एक सर्व शक्तिमान है
ईश की पुकार है, ये भागवत का सार है
की युद्ध ही तो वीर का प्रमाण है
कौरवों की भीड़ हो,
या पांडवो का नीड हो
जो लड़ सका है वो ही तो महान है
जीत की हवस नहीं
किसी पे कोई वश नहीं
क्या जिंदगी है ठोकरों पे मार दो
मौत अंत है नहीं तो मौत से भी क्यों डरे
ये जाके आसमानो में दहाड़ दो
आरम्भ है प्रचंड ….
हो दया का भाव या की शौर्य का चुनाव
या की हार का वो घाव तुम ये सोच लो
या की पूरे भाल पर जल रहे विजय का लाल
लाल ये गुलाल तुम ये सोच लो
रंग केसरी हो या मृदुंग केसरी हो
या की केसरी हो लाल तुम ये सोच लो
जिस कवि की कल्पना में जिंदगी हो प्रेम गीत
उस कवि को आज तुम नकार दो
भीगती नसों में आज, फूलती रगों में आज
आग की लपट का तुम बघार दो
आरम्भ है प्रचंड ….
Aarambh Hai Prachand Song Credits :-

Movie/Album: गुलाल (2009)

Music By: पियूष मिश्रा

Lyrics By: पियूष मिश्रा

Aarambh Hai Prachand Video Song :

Leave a Comment

error: Content is protected !!